मिरी नमाज़-ए-जनाज़ा पढ़ी है ग़ैरों Mama मरे थे जिन के लिए वो रहे वज़ू करते

Analyst
By -
0


अमिताभ से लेकर आडवाणी तक...... और मुलायम से लेकर ठाकरे तक *सुब्रत रॉय ने अपने दोनों लड़कों की शादी में पूरे देश का वीआईपी इकट्ठा किया था .....

2004 में पाँच सौ करोड़ की ये शादी सबसे महँगी मानी गयी थी.......

और आज* क़रीब दो दिन इंतज़ार करने के बाद उनकी चिता में *पौत्र ने मुखाग्नि दी🔥* विदेश में बैठे दोनों बेटों ने *पिता की मृत्यु पर पहुँचने में असमर्थता जता दी 🤔😟*

यही दुनिया है । बक़ौल शायर,

मिरी नमाज़-ए-जनाज़ा पढ़ी है ग़ैरों Mama
मरे थे जिन के लिए वो रहे वज़ू करते 

Post a Comment

0Comments

Post a Comment (0)